gyaniansinfo@gmail.com
Follow on

Facebook Founder Mark Zuckerberg Success Story

Facebook Founder Mark Zuckerberg Success StoryHello Gyanians, आज हम 21st century की success stories में से एक Facebook Founder Mark Zuckerberg Success Story की बात करेंगे. ये एक ऐसी company की story है जिसने पूरी दुनिया आपकी उंगलियों पर ला कर रख दिया, ये एक ऐसे शख्स की story है जिसने छोट्टी सी उम्र में दुनिया को आपस में जोड़ दिया. उसने ये साबित किआ की आपकी उम्र आपकी सफलता का मुकाम तय नही करती. उसके इसी जज्बे और मेहनत की वजह से वो मात्र 23 साल की उम्र में अरबपति बन गया और उस शख्स का नाम है Mark Zuckerberg.

अब आप सोच रहें हो की सिर्फ 23 साल की उम्र में अरबपति. जी हाँ सिर्फ 23 साल की उम्र में जिस age में हम सोचते है की अभी तो हम बच्चे है और पढने लिखने और मजे करने की उम्र है उस उम्र में mark zuckerberg ने सफलता की बुलंदियों को छु लिया था तो आइये जानते है क्या है Facebook और उसके founder Marks Zuckerberg की success story. जैसा की मैं हमेसा बोलता हूँ हर success story से हम motivate होते है और हमे मेहनत करने की प्रेरणा मिलती है.

 

 

Mark Zuckerberg के बचपन की Biography

Mark Zuckerberg का जन्म 14 May 1984 को New York में हुआ है. वो अपने 4 भाई-बहनों में 2nd के इकलोते लड़के हैं. उनके father Edward Zuckerberg एक dentist है और वो घर के पास ही एक Clinic चलाते थे. उनकी माँ Karen Zuckerberg एक psychiatrist हैं.

Mark को बचपन से ही programming में बहुत ज्यादा interest था और उनके इसी interest की वजय से उनके father ने उनकी 10 साल की उम्र में ही उन्हें उनका first computer लाकर दिया और इसके अलावा वो mark को Atari BASIC Programming पढ़ाया करते थे और mark programming में इतने तेज थे की उन्होंने लगभग 12 साल की उम्र में Atari BASIC programming का use करके एक messenger (software) बनाया जिसका उन्होंने नाम दिया “ZuckNet”.

ZuckNet messenger का use करके mark ने अपने घर और अपने father के dental clinic के computer को आपस में connect कर दिया और फिर वो zucknet का use करके अपने father से बाते किया करते थे. इसके अलावा mark के father ने भी अपने computer और receptionist के computer को zucknet की help से connect कर दिया और जब भी कोई new patient आता receptionist zucknet messenger से message करके mark के father को इन्फॉर्म कर देती थी.

इसके अलावा mark अपने और अपने दोस्तों के लिए नये नये games और communication tools भी develop करते रहते थे. Mark के father ने उनके इसी interest की वजह से mark के लिए अलग से private computer teacher रखा जो mark को programming सिखाता था.

जब mark high school में तो उन्होंने ने एक artificially intelligent media player “Synapse”  बनाया. Synapse अपने आप user के interest को guess करके songs की playlists बनता था जिन्हें user बार-बार सुनना पसंद करता था. Mark के Synapse media player की popularity का अंदाज इसी बात से लगा सकते है की IT field की दिग्गज companies Microsoft और AOL ने mark के सामने उनके media player को खरीदने का प्रस्ताप रखा लेकिन mark अपने player को किसी भी cooperate use के लिए नही देना चाहते थे इसलिए mark ने उनका ये प्रस्ताप reject कर दिया.

Mark-Zuckerberg-Biography

FaceMash: A Fun Site for Voting

अपने school की पढाई पूरी करके 2002 में Harvard University में admission ले लिया. Mark अपने programming talent की से अपने Harvard में भी as a software developer महशूर हो गये. साल 2003 में mark ने एक website बनायी “FaceMash” जिसके लिए उन्होंने Harvard एक secure database को hack करके collage की सभी girls की photos को FaceMash पर upload कर दिया और randomly किन्ही दो girls की pictures को दिखा कर website के users से पूछा जाता था “Who is hotter?” यानी user FaceMash पर girls की pictures देख कर उन्हें vote करते थे.

कुछ ही दिनों में FaceMash website पुरे Harvard University में popular हो गयी और website पर इतना traffic हो गया की university का server ही crashed हो गया और फिर इसके बाद Harvard administrators की तरफ से mark को बहुत ज्यादा डांट पड़ी लेकिन उनके talent की वजह से उन्हें college से नही निकाला गया और उनकी FaceMash website को बंद करवा दिया गया.

facemash-site-banai-mark-ne 

Facebook Success Story : जिसने दुनिया बदल दी

Mark के facemash incident से कुछ समय पहले Divya Narendra और उनके 2 twins friends Tyler और Cameron Winklevoss ने mark को Harvard University के लिए एक social website बनाने का idea दिया था. Divya Narendra अपना idea बताकर और उनके दोनों twins friends financially support करके Mark से social sites बनवाना चाहते थे. Divya Narendra का idea था की Mark उनकी के लिए एक ऐसी site develop करें जिस पर Harvard के सभी students अपना account create करके अपने photos, personal information और useful links share कर सकें और उस website का उन्होंने नाम दिया था “Harvard Connection”.

Harvard Connection website पर काम करते वक़्त ही mark को idea आया की क्यू ना वो अपनी खुद की Social Site बनाये जिसमे mark की help की उनके friend Eduardo Saverin ने. Mark ने 4 February 2004 ने अपना एक domain registered कराया “TheFacebook.com” जिसके बाद में बदल कर “Facebook.com” कर दिया गया. facebook को उस वक़्त सिर्फ harvard students के लिए ही बनाया गया था.

धीरे-धीरे facebook popular होते चली गयी और USA की सभी university की students facebook पर अपना account create करने लगे. facebook की बढती popularity की वजह से ही बहुत सी company ने facebook में investment किया और फिर जल्द ही facebook को पूरी दुनिया के लिए पब्लिक कर दिया गया यानी फिर कोई भी उस पर अपना account create कर सकता था.

Mark-Zuckerberg-Biography

How Facebook Make Money

Internet पर पैसा 3 तरीको से कमाया जाता है वो हैं Advertisement, Advertisement और Advertisement. जी हाँ दुनिया में सबसे ज्यादा अगर पैसा कमाया जा सकता है तो वो है advertisement. Internet हो या TV, ज्यादातर सब ads से ही पैसा कमाते है और ऐसा ही facebook ने किया. Facebook ने users के interest से related ads दिखाए और उससे हुई Earning की वजह से ही Mark Zuckerberg दुनिया के सबसे youngest billionaires हैं और इसके अलावा Mark दुनिया के सबसे आमिर लोगो की list में 7th number पर हैं.

 

जब हुआ Facebook पर सबसे पहला और बड़ा मुकदमा  

Divya Narendra और उनके twins friends Cameron और Tyler Winklevoss ने mark और उनकी company के खिलाफ मुकदमा किया. उन्होंने आरोप लगाया की mark ने उनका idea चुराकर facebook को बनाया है. मुकदमा भी काफी time तक चलता रहा लेकिन mark के खिलाफ कुछ भी साबित नही हो पा रहा था लेकिन court में हो रहें time waste से बचने के लिए mark 45 million dollar देने के लिए राजी हो गये. Divya Narendra इसके लिए राजी हो गये और उन्होंने अपना मुकदमा बापस ले लिया लेकिन twins brothers ने U.S. Supreme Court में mark के खिलाफ मुकदमा कर दिया और वो शायद अभी भी चल ही रहा हैं.

facebook-ke-upar-case

Acquisitions by Facebook

Facebook के शुरूआती दिनों में एक से एक बड़ी company ने facebook को खरीदने की कोशिश की जैसे की google, viacom, myspace, yahoo, aol, microsoft इत्यादि लेकिन mark ने उन सबके ऑफर को reject कर दिया और खुद अपनी मेहनत से facebook को आज इस मुकाम तक ले आयें.

जैसे हर बड़ी company दूसरी success company को अपने साथ मिलाना चाहती है उन्हें अपने साथ जोड़ना चाहती है ठीख इसी तरह facebook ने भी बहुत सी companies को अपने साथ merge और acquisition कर लिया जिसमे से कुछ तो आप भी जानते होंगे जैसे की Instagram, Oculas Rift and WhatsApp.

how facebook make money

Gyanians देखा आपने अगर आपको अपने ऊपर पूरा भरोसा है और आप पूरी मेहनत के साथ कोई काम करते है और काम के बीच आई मुस्किलो से नही डरते तो उसका result भी बहुत अच्छा ही आता है बस हमे कभी हार नही माननी चाइये. बस सच्चे दिल से मन लगाकर मेहनत करो सफलता जरुर मिलती है.

Hello Gyanians, आशा करता हूँ की आपको ये ” Facebook Founder Mark Zuckerberg Success Story ” post पसंद आई होगी. अगर आपको इस post से related कोई सवाल या सुझाव है तो नीचे comment करें और इस post को अपने दोस्तों के साथ जरुर share करें.

gyanians_author

About the Author

Hello gyanians, मेरा नाम Neeraj Parmar (Neel) है और में India की Taj City (Agra) में रहता हूँ. मैंने computer science से engineering की है. By Profession मैं computer science teacher और web developer हूँ और इसके साथ-साथ ही मैं part time blogging भी करता हूँ.

Read More >>

0 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Get In Touch
gyaniansinfo@gmail.com
Copyright 2017 By Gyanians (All Right Reserved) | Design & Developed By WebAtoZ.in