6G क्या है, जाने 6जी के #6 बेहतरीन फायदे, 5G से बेहतर कैसे है

| | 10 Minutes Read

आज हम Article की मदद से जानेंगे 6G Kya Hai और 6G 5G Se Behtar Kaise Hai.

इसके साथ ही हम आपको 6G से जुड़े और भी सवालों के जवाब देंगे. जैसे कि: 6G Ke Fayde, 6G Kis Desh Mein Hai, 6G Mei Kya Suvidhayen Milengi, 6G or 5G Mei Antar इत्यादि की पूरी जानकारी विस्तार में जानेंगे.

6G Kya Hai

6G, Telecommunication के क्षेत्र में Sixth Generation है जो 5G नेटवर्क का बढ़ता विकास है. यह Technology पूरी तरह से Artificial Intelligence और Machine प्रोग्रामिंग पर आधरित होगी. इसमें Service Sector को छोटे-छोटे Geographical Area में बांटा जाता है जिसे Cell कहते हैं.

5G के बाद यह एक Significant Evolution बन सकता है. इसकी Capability अलग-अलग Networks को Self Aggregate करने में सक्षम होगी. जिस तरह से 5G अलग-अलग प्रकार के नेटवर्क को एक्सेस करने में सक्षम होता है.

वही 6G इस काम को जरूरत पड़ने के हिसाब से Dynamic तरीके से Independently ही कर सकता है. क्योंकि ये Network में Planning को Embed कर देगा. मतलब Network को पता होगा की इसका इस्तेमाल किया जा रहा है. इस तरह इसे Specific Moment में Users के द्वारा इसका उपयोग किया जा सकता है.

6G, Artificial Intelligence और Internet of Things के साथ मिलकर Independently काम करने में पूरी तरह सक्षम होगा. इससे यह स्वयं के Resources को जरूरत के अनुसार Reconfigure एवं Evolve भी कर सकता है. इससे किसी भी काम को करने में मुश्किलें कम हो सकती है.

5G नेटवर्क की तुलना में कई ज्यादा Frequency का इस्तेमाल 6G में किया जा सकता है. इस Technology Chip में THz Wave का इस्तेमाल किया जाएगा. साथ ही ​यह Telecommunication और Multimedia Communication के लिए 5G से ज्यादा Fast, Accurate और Efficient Network हो सकता है.

6G 5G Se Behtar Kaise Hai

1. 6G Technology Artificial Intelligence और Machine Programming पर आधारित होगी. 5G, Bandwidth Technology पर आधारित हैं.

2. इसमें डाटा Transfer Speed 1 Tbps से 8,000 Gbps तक हो सकती है. 5G की Data डाटा Transfer Speed, 1 Gbps से 10 Gbps तक होती है.

3. 6G की स्पेक्ट्रम रेंज Band 2.4ghz से 5Ghz तक होगी. 5G की स्पेक्ट्रम रेंज Band 1 Ghz से 6Ghz तक होता है.

4. 6G का एक्यूरेसी रेट High Definition को सपोर्ट करता है. 5G की एक्यूरेसी रेट 6G से Low Rate Provide करता है.

इसमें Service Sector को छोटे-छोटे Geographical Area में बाटा जाता है, जिसे Cell कहते हैं, यही Technology 6G को 5G से बेहतर बनाती है. 6G का मुख्य उद्देश्य इंटरनेट स्पीड को Microseconds तक पहुँचाना है.

6G Ke Fayde

1. 6G Independent Frequency Provide करता है. जिससे Channel आपस में Overlap नहीं होंगे.

2. इसके आने से Image Processing, Live Location, Artificial Intelligence को बढ़ावा मिलेगा.

3. इसका Network Coverage बड़ा हो सकता है, जो नेटवर्क Coverage के लिए नया सुधार होगा.

4. यह High Data Rate को Support करने में सक्षम होगा.

5. Medical, Space Research, Invention, Airlines इत्यादिSector में यह काफी बेहतर साबित हो सकता है.

6. इस Technology की मदद से कई Devices आपस में बिना परेशानी के Connect हो सकेंगे.

6G Kis Desh Mein Hai

दुनिया भर में 5 से 6 देश ऐसे है, जो 6G Technology पर काम कर रहें है. इनमें Japan, China, South Korea, America, Europe इत्यादि देश शामिल हैं. साल 2030 तक कई देशों में 6G Technology को Launch किया जा सकता है.

6G Mei Kya Suvidhayen Milengi

1. इसमें Virtual Reality और Augmented Reality देखने को मिल सकती है.

2. Internet of Things का इसमें ज्यादा इस्तेमाल होगा.

3. यह Terahertz पर आधारित Wireless Technology होगी जो तेज़ और कम लागत में Per Bit Connectivity को सक्षम बना सकता है.

4. यह Data Collection और Multiple Devices के Closed Loop system नियंत्रण का समर्थन करने में सक्षम होगा.

5. उद्योगक्षेत्रों में Energy Efficiency में सुधार के लिए Sophisticated Equipment का उपयोग करके Data Analysis किया जा सकता है.

6. यह Space Research में काफी सफल साबित होगी. इसमें Data Transfer की Speed 1 Tbps से 8000 Gbps तक मिल सकती है.

7. 6G Technology Artificial Intelligent और Machine Programming पर आधारित होगी.

6G or 5G Mei Antar

6G5G
1. 6G, Artificial Intelligence और Machine Programming पर आधारित होगी. 1. 5G Bandwidth Technology पर आधारित है.
2. इसमें Spectrum Range-2.4ghz से 5Ghz तक हो सकती है. 2. 5G नेटवर्क की Spectrum Range 1ghz से 6Ghz तक होती है.
3. इसका Accuracy Rate, High Definition को Support करता है. 3. 5G की Accuracy Rate 6G से Low Rate, Provide करता है.
4. इस नेटवर्क की Internet Transfer Speed Micro-Second तक हो सकती है. 4. 5G में Data Transfer Speed Microsecond से ज्यादा समय लेता है.
5. डाटा Transfer की Speed 1 Terabyte Per Second से 8,000 Gigabyte Per Second तक हो सकती है. 5. 5G की Transfer Speed 1 Gigabyte Per Second से 10 Gigabyte Per Second तक होती है.
6. 6G में Internet of Things का उपयोग ज्यादा किया जा सकता है. 6. 5G में Internet of Things का उपयोग कम किया गया है.
7. 6G में Service Sector को छोटे-छोटे Geographical Area में विभाजित किया जाता है. 7. 5G में Service Sector को विभाजित नहीं किया जाता है.
6G Kon Istemaal Kar Sakta Hai

6G का इस्तेमाल Laptop, Mobile, Computers के अलावा Wide Area Services नेटवर्क, Space Research, Medical Research and Invention, Airlines, Railway इत्यादि Sector में किया जा सकता है.

6G Kab Launch Hoga

साल 2030 के लगभग 6G Launch किया जा सकता है.

6G Ka Trail Kahan Chal Rha Hai

6G का Trail 5 से 6 देशों में चल रहा है, जिसमें Japan, China, Europe, Singapore, America, South Korea इत्यादि देश शामिल है.

6G Market Mei Kab Tak Ayega

साल 2030 तक 6G मार्केट में आ सकता है.

अगर आपको 6G Kya Hai पोस्ट पसंद आई तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें.

अगर आपके मन में कोई सवाल है तो आप Comment करके पूछ सकते हैं.

Author:

Hello!! दोस्तों मेरा नाम Saloni है. मैं gyanians.com की Writer हूँ. मुझे Softwares से जुड़ी हिंदी में लिखना पसंद है. मैं इन Blogs की मदद से आप तक सभी तरह के Softwares की जानकारी पहुंचाना चाहती हूँ. मेरी आपसे निवेदन है की आप इसी तरह मेरा सहयोग देते रहें और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों के साथ मेरे लिखे Content को शेयर करें. मैं आप सभी के लिए Latest जानकारियाँ उपलब्ध करवाती रहूँगी.

Questions Answered: (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *