On Page SEO क्या है, On Page SEO कैसे करें, 6 आसान तरीके

| | 20 Minutes Read

क्या आप भी बिना Ads में निवेश किए आपके Website की Traffic बढ़ाना चाहते हैं? अगर हाँ तो आप सही जगह हैं. आज हम आपको इस Article की मदद से बताएँगे On Page SEO क्या है की पूरी जानकारी.

इसके साथ ही हम आपको On Page SEO से जुड़े और भी सवालों के जवाब देंगे. जैसे कि: Title कैसे बनाते हैं, Content कैसे लिखते हैं, ALT Tag क्या होता है, Keyword Research कैसे करें इत्यादि की पूरी जानकारी विस्तार में जानेंगे.

तो चलिए शुरू करते हैं Article On Page SEO Kya Hai और On Page SEO Kaise Kare के बारे में पढ़ने से….

On Page SEO Kya Hai

On Page SEO एक ऐसी Technique है जिसका उपयोग करके हम अपनी Website को Search Engine के Top List में Rank करा सकते हैं. इस तकनीक का उपयोग कर हम किसी भी वेबसाइट के Webpage को Search Engine Friendly बना सकते हैं. इस तकनीक का सबसे पहला उद्द्श्य एक Quality Content तैयार करना होता है.

यह Content आपको कुछ इस प्रकार से लिखना होता है कि वह हर वर्ग के Users को आसानी से समझ आ जाए. यह तरीका हमारे वेबसाइट पर विजिट करने वाले Users को उनके कंटेंट जुड़ी एकदम सही और सटीक Information उपलब्ध कराता है. On Page SEO अब तक का सबसे महत्वपूर्ण तकनीक माना जाता है.

On Page Optimization का मकसद Search Engine को यह बताना होता है कि आप जिस Keyword को Target करना चाहते हैं उसपर आपने पर्याप्त जानकारी दी है या नहीं. आप इसे एक Product और Service के Point of View से भी समझ सकते हैं. यह कंटेंट आपके Product या Service का फोटो, उसका पूरा Description भी हो सकती है.

On Page SEO Kaise Kare

  • 1. Technical SEO (Coding)
  • 2. Content SEO (Content)

1. Technical SEO: यह SEO का एक खास तरीका है जिसमें हम अपनी वेबसाइट के HTML Elements में Schema Markup Language, Meta Tag, Meta Title, Meta Description, Meta Article Tag, Meta Image Tag, Meta Page Type Tag आदि का उपयोग करते हैं.

इन Tags का इस्तेमाल हम इसलिए करते हैं, ताकि Search Engine का Algorithm जब हमारी वेबसाइट को Read करे तो वह ठीक तरीके से समझ सके की कौन सा कंटेंट क्यों लिखा गया है या इस Content एवं Paragraph के अन्दर क्या बताया गया है.

अगर आप CMS Softwares जैसे कि: WordPress, Drupal, Joomla, Magento, October आदि पर Website बनाते है. तो आपको Coding में Schema Markup Language लगाने की जरुरत नहीं पड़ती है. Latest Updates के अनुसार लगभग इन सभी में पहले से ही यह Tags लगे होते हैं.

हम कई बार CMS Software पर बनी वेबसाइट में SEO Plugin जैसे Yoast SEO का उपयोग भी करते है. अगर आप कोई Custom वेबसाइट/ Framework बनाते हैं, तो आपको उसमें Schema Language लगानी पड़ सकती है.

2. Content SEO: इस तकनीक का इस्तेमाल कर हम जब भी कोई Page/ Post बनाते है तो उसके अन्दर Content का उपयोग करते हैं. यह Content (Text, Image, Video, Audio, Other Media Files) हो सकता है. जब भी किसी Search Engine का Algorithm इसे पढता है तो उसे इस Content को ठीक तरह से अपने Search Result में दिखने के लिए मदद मिलती है.

इससे Search किए गए Keywords पर Index कराना इसके लिए बहुत आसान हो जाता है. Keywords हम उन Questions को कहते हैं जिनके बारे में जानने के लिए लोग उन्हें Google, Bing, Yahoo जैसे Search Engines पर खोजते हैं.

हम अपने Content में इन्ही Keywords का उपयोग करके इन Search Engines को बताते है, की किसी यूजर ने अगर कोई Question पूछा तो उसका उत्तर किस तरह के कंटेंट में दिखाना है. अब वह उत्तर एक Text, Image, Video, Audio, Other Media Files या कुछ भी हो सकता है.

उदाहरण: अगर कोई वेबसाइट Sanitizer बेचती है. तो उस वेबसाइट पर Sanitizer के Photo, Company Name, Product Details, Price, Quantity यह सब की जानकारी मौजूद होगी और यह वेबसाइट पर उपलब्ध जानकारी एक Content कहलाती है.

ठीक इसी तरह कोई वेबसाइट Car Repair की Service देती है. तो उस Service Centre के बारे में दी गई जानकारी और उस जानकारी में उपयोग की गई Text, Photo, Video आदि भी एक Content कहलाती है.

On Page SEO Karne Ka Tarika

On-Page SEO Elements
  • Heading & Sub-Headings
  • On-Page Content
  • Title Optimisation
  • Tags & Relevant Backlinks
  • Image Optimization
  • URL Optimisation
  • HTML Code
  • User Experience

On-Page SEO करना बहुत ही आसान है. इसके लिए सबसे पहले आपको यह तय करना है कि आप अपनी वेबसाइट को किस Topic पर Rank कराना चाहते हैं. इसके बाद आप उस Topic पर Keyword Research कर सकते हैं. एक बार Keyword Research पूरा हो जाए फिर आपको एक Quality Content तैयार करना होता है.

1. Keyword Research Kaise Kare

Internet पर Keywords Research के लिए बहुत सारे Free एवं Paid Tools मिल जाते हैं, जैसे कि: Google Keyword Planner, Uber-Suggest, Semrush इत्यादि. इनका इस्तेमाल कर आप आसानी से किसी भी Topic पर Keyword Research कर सकते हैं.

2. Content Kaise Likhe

किसी भी Web Page पर मोजूद Content उसकी आत्मा माना जाता है. अगर किसी Web Page पर Content अच्छा नही है तो कोई भी User उस Web Page को Open करते ही Close कर देगा. इससे उस Web Page का Bounce Rate Increase हो जाता है. जब तक आप आपका Content नहीं सुधारते, आपका Content Top List में कभी भी Rank नहीं कर सकता है.

Quality Content से मलतब Information से भरा हुआ होता है. हर Post में कम से कम 500 से 600 Words होने चाहिए. आपका Content Unique होना चाहिए क्यूंकि Users Same Topic को अलग-अलग Blogs पर पढ़ना पसंद नही करते हैं. Users को एक बार में सटीक एवं Unique Content चाहिए होता है जो पहले से कहीं भी मोजूद ना हो.

अगर एक बार वह आपके Website से वाकिब हो जाते हैं, तो उनका ट्रस्ट लम्बे समय तक बना रहता है. आपका Content यूजर को समझ आना चाहिए और वह आसान भाषा में होना चाहिए ताकि एक User उसे एक बार में पढ़कर आसानी से समझ सके.

  • Content Heading: आपके Content में Heading का होना बहुत आवश्यक है. अगर आप बिना Heading के लिखते हैं तो यह भी User एक्सपीरियंस पर एक बुरा असर डालता है.
  • Paragraph के Start होने से पहले उसकी एक स्पस्ट Heading होनी चाहिए जिससे Users को उस Paragraph का Short Description मिल जाता है.  
  • Content Heading के लिए हमेशा Header Tags( H2 से H6) का ही Use करें.
  • H1 का उपयोग पहले से ही Post के Title में हो जाता है.
2. Title Kaise Banaye

किसी भी Website को Search Engine में Top Rank पर लाने के लिए Title का बहुत Important Role होता है. आपकी Website के Web Pages का Title जितना अच्छा Optimize होगा उतना ज्यादा ही आपकी Website पर Traffic होगा.

Blog Ka Title Kaise Banaye
Blog Ka Title Kaise Banaye

Title Update: Google ने हाल ही में एक नया Update निकला है जिसके तहत गूगल अब खुद 70% Page के Title खुद बनाकर दिखाए गा, लेकिन अभी भी 30% Title Google वही दिखाए गा जो हमने अपनी Website पर डाल राखी है. ऐसा वो सिर्फ तब ही करेगा जब आपने आपका Title Content के हिसाब से Optimize नहीं किया है.

Title की शुरुआत हमेशा अपनी Post के Primary Keyword के साथ ही करें. कभी-कभी ये Possible नही हो पाता की Title की शुरुआत Primary Keyword से की जाए तो आप उसे Title के बीच में Use कर सकते हैं. उदहारण:

  • Excellent: On-Page SEO Kya Hai
  • Good: Janiye On-Page SEO Kaise Kare
  • Poor: Kaise Karte Hai On-Page SEO
3. Meta Description Kaise Likhe

Meta Description में आप अपने Web Page का Summary देते हैं. यहाँ आपको आपके Web Page में मोजूद Content की जानकारी का एक छोटा सा हिस्सा लिखना होता है. कुछ Search Engines इस Meta Description को अपने Search Engine Results Pages (SERPs) में Snippets के रूप में दिखाते है.

Meta description भी Title की तरह Head के Section में आता है.

Meta Description Kaise Likhe
Meta Description Kaise Likhe
  • Meta Description में Interactive Content और Keywords का Use करें.
  • Meta Description 150-160 Characters से ज्यादा का नहीं होना चाहिए.
  • Website के हर Page पर एक Unique Meta Description होना चाहिए.
4. Image SEO Kya Hai

जब भी कोई User Search Engine पर कोई Keyword Type करता है तो Search Engine उन Keywords से Related Web Pages के साथ Pictures भी Search करता है. अगर आप चाहते हैं की आपकी Website पर लगी Images को भी Search Engine अपने Search Results में दिखाए तो उसके लिए Image Optimization करना जरूरी है.

बहुत से Bloggers ये नही जानते है की Images भी आपकी Website पर Traffic लाती है. Image Optimization में Bloggers ALT Tag का Use करते हैं. ALT Tag को IMG Tag में Attribute की तरह Use किया जाता है. ALT Tag Search Engine को Image के बारे में बताता है.

5. URL Kaise Banaye

जब हम अपने Blog पर कोई New Web Page Create करते हैं तो उसको एक Unique URL Name दिया जाता है. वह Web Page आप उस URL की मदद से कहीं से भी Access कर सकते हैं.

Example: https://gyanians.com/seo-kya-hai/

इसमें gyanians.com Website का Name है और seo-kya-hai Web Page का Name है. यही दोनों मिलाकर एक Unique Address बनते है.

URL Structure:

  • आपके Web Page का URL Short ( Maximum 5-6 Words ) होना चाहिए.
  • सभी Words के बिच Hyphen (-) होने चाहिए. आप ना ही Space, ना ही Underscore Use कर सकते हैं.
  • अगर Sub-Directories हैं तो उनका Name 1-2 Words में होना चाहिए,
  • Web Page का URL Name Post से Related होने चाहिए. इससे आपका URL, Search Engine Friendly बनता है.

Internal Links उन Links को बोला जाता है जो आपकी ही Website के किसी एक Page को दूसरे Page को Connect करने का काम करती है. इससे Users आपकी Website पर ज़्यादा लम्बे समय तक Navigate करते हैं.

SEO के नजरिए से देखा जाए तो Internal Links Bounce Rates को कम करती हैं, Link Juice बढ़ाती हैं, Users और Search Engine को Current Page/ Post से Relevant Data देती हैं.

Title Kaise Banate Hain

  • हर Web Page का Title Unique होना चाहिए.
  • Title में 40 Characters से लेकर 60 Characters तक होना चाहिए.
  • कोशिश करें की Title आपके Web Page के Primary Keyword से ही Start होता है.
  • Title में किसी भी Keyword को Repeat ना करें.
  • किसी भी Company का Name Title में Use ना करें. अगर करना ही चाहते हैं तो, Name को Title में आखिर में Add कर सकते हैं.
Blog Ka Sitemap Kaise Banaye

आपको किसी City में घुमने के लिए उसके Map की जरूरत होती है. जिससे आप उस City में मोजूद सभी Places का रास्ता अच्छे से जान सकें. ठीक इसी तरह Search Engine को भी आपकी Website का Map चाहिए होता है.

जिससे वो आपके Website में मोजूद सभी Web Pages तक पहुँच सकें इसमें Search Engine की Help करती है Sitemap.Xml File. Sitemap एक XML File होती है जिसके अंदर आपके Website में मोजूद सभी Web Pages के Link (URL or Address) होते है.

इस File को हम अलग-अलग Search Engine में Submit करते है और इसी File को Use करके सभी Search Engine आपकी Website को बेहतर तरीके से Crawl कर पाते है और इससे आपकी Website के  प्रत्येक Page की Search Engine में Ranking अच्छी हो जाती है.

On Page SEO Tips in Hindi

हम On Page Seo में सबसे पहले यह ध्यान देते हैं की हमारे Web Page पर अच्छी क्वालिटी का Content हो क्योंकि अगर आपका कंटेंट अच्छी क्वालिटी का नहीं है तो लोग उसे पढ़ेंगे नहीं.

इसके बाद हम यह भी ध्यान देते हैं कि हमारे कंटेंट के अंदर Keywords को सही जगह पर उपयोग किया गया है या नही क्योंकि आपके कंटेंट के अंदर सही जगह पर Keyword का उपयोग नहीं किया गया तो वह Article एक Quality Content नहीं होगा.

इसके बाद हम ध्यान रखते हैं कि जिस Topic/ Keyword पर कंटेंट लिख रहे हैं वह हमारे Content के Title में जरूर हो ताकि सर्च इंजन यह समझ सके की यह कंटेंट किस बारे में है.

हम अपने वेबपेज को User Friendly बनाते हैं. इसका मतलब इस तरह से Arrange करना या लिखना जिससे यूजर को कंटेंट पढ़ने में आसानी हो.

हम यह भी ध्यान रखते हैं कि हम अपने कंटेंट के अंदर ज्यादा High Quality की Image या अन्य Media File जैसे Video, Audio का उपयोग कम करें जिससे हमारे पेज की स्पीड पर फर्क ना पड़े और वह फास्ट लोड हो.

इसके अलावा On Page SEO के ये काम भी होते हैं:

  • Meta Tag Optimize करना
  • Images को सही Title और Alt Tag देना
  • Internal Link Create करना
  • Post Heading को सही Structure में रखना
  • Post Length सही रखना
  • Web Pages का सही Sitemap बनाना,
  • Robots.Txt File बनाना इत्यादि.

आशा करते हैं आपको On Page SEO Kya Hai और On Page SEO Kaise Kare, पोस्ट पसंद आई होगी.

अगर आपको इस Post से Related कोई सवाल या सुझाव है तो नीचे Comment करें. अगर आपको यह Post पसंद आई तो अपने दोस्तों के साथ जरुर Share करें.

Author:

Hello!! दोस्तों मेरा नाम Divya है. मैं gyanians.com की Writer हूँ. मुझे Google और SEO से जुड़ी जानकारी हिंदी Blogs में लिखना पसंद है. मैं इन Blogs की मदद से आप तक सभी तरह के Google Updates और SEO की जानकारी पहुंचाना चाहती हूँ. मेरी आपसे निवेदन है की आप इसी तरह मेरा सहयोग देते रहें और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों के साथ मेरे लिखे Content को शेयर करें. मैं आप सभी के लिए Latest जानकारियाँ उपलब्ध करवाती रहूँगी.

Questions Answered: (20)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *