WordPress Theme Development Tutorial from Scratch in Hindi (Part 1)

WordPress Theme Development Tutorial from Scratch in Hindi (Part 1)

WordPress Theme Development Tutorial from Scratch in HindiHello Gyanians, अगर आप ये सीखना चाहते है की WordPress themes कैसे बनाई जाती है, तो ये post बिलकुल आपके लिए है. इस post के साथ में WordPress Theme Development Tutorial from Scratch in Hindi की एक series शुरू कर रहा हूँ, जिसमे मैं आपको WordPress theme कैसे बनाते है ये step by step सिखाऊंगा. ये इस series की first post जिसे आप सिर्फ introduction post कह सकते हैं.

अब आप में से कुछ readers ये सोच रहें होंगे की जब आपको बहुत आराम से WordPress की free and premium themes मिल जाती है तो खुद से code करके theme क्यों बनायी जाएँ लेकिन मुझे ऐसा हमेसा लगता है की ज्यादातर bloggers को उनकी पसंद की themes नही मिलती है और जो मिलती है उन्हें उसी में adjust करना पड़ता है और वो चाह कर भी उस theme में ज्यादा changes नही कर पाते है.

यानी आपको free और premium themes में भी पूरा control नही मिलता है. अगर आप जानना चाहते हो की WordPress theme behind the scene कैसे काम करती है जिससे की आप उसकी design और functionality को better performance के लिए manipulate और optimize कर सको तो आपको WordPress Theme Development जरुर सीखना चाइये.

इस post को आगे पढने से पहले एक बात आप अपने मन में रख लीजिये की “Everything is Possiable for Everyone” यानी कोई भी काम कठिन नही है अगर आप मेहनत से मन लगा करोगे तो हर काम “आसान है. ये बात मैंने इसलिए लिखी है क्योंकि बहुत से लोगो को लगता है की मुझे ये कभी नही आ पायेगा, ये बहुत कठिन चीज है इत्यादि, लेकिन मुझे ऐसा लगता है की अगर हम किसी भी काम को करने की सही guideline मिल जाए तो वो काम करना बहुत आसान हो जाता है.

 

 

Requirements: WordPress Theme Development Tutorial from Scratch in Hindi

आप किसी भी तरह की website, blog या किसी भी CMS के लिए theme design करना चाहते है तो आपको HTML, CSS की basic ज्ञान (knowledge) होना चाइये. अगर आपको इनका बिलकुल भी ज्ञान नही है तो चिंता करने के कोई जरूरत नही है, क्योंकि HTML और CSS को सीखना बच्चो का खेल है. आप बहुत आसानी से 1 हफ्ते (week) में basic use सीख सकते हो. अगर आप responsive theme बनाना चाहते हो तो आप HTML और CSS के बाद Bootstrap भी सीख लीजियेगा.
WordPress Theme Development Tutorial from Scratch in Hindi series को अच्छे से समझने के लिए आपको HTML, CSS और Bootstrap का basic ज्ञान जरुरी है इसलिए अगर आपको इनका basic ज्ञान नही है तो आप मेरी नीचे दी posts के link पर click करके इनके बारे में थोड़ा जान लीजिये और उसके बाद आगे इस post को continue करें.

 

 

WordPress Theme Development easy बनाने के लिए आपको अपने computer पर Local Development Environment को setup करना होगा. इसके लिए सबसे पहले आपको WampServer को install करना होगा और फिर उसके बाद आपको WordPress को Install करना होगा और इन दोनों की काम के मैंने details से अपनी post में बताया ये इसलिए अगर उन posts को पढ़कर ये दोनों काम complete कर लें.

 

 

How WordPress Theme Work: WordPress Theme Development Tutorial from Scratch in Hindi

WordPress theme multiple template files को मिलाकर बनती है और ये सभी files आपके theme folder में save होती है. हर WordPress theme में at least two files (index.php और style.css) जरुर होती है. जब index.php file load होती है तो वो complete page दिखाने के लिए other template files जैसे की header.php, footer.php और sidebar.php को भी load करती है.

कब कौन सी template files load होगी ये इस बात पर depend करता है की आप theme के किस section को visit कर रहें हो. जैसे की जब आप blog के simple page (about us) पर होते हो तो तब page.php file और जब blog post को browse करते हो तब single.php file load होती है. इस सभी template files को style (design) देने का काम style.css file करती है.

ये सभी template files मिलकर एक functional WordPress theme बनाती है आइये जानते है कुछ common template files के बारे में जिनको मैं WordPress Theme Development Tutorial from Scratch in Hindi की series में use करने बाला हूँ…

 

style.css – आपके blog को style and design देने के लिए लिए जो भी CSS code किया जाता है वो इसी file में होता है. इसके अलावा इस file में आपकी theme का metadata as comments होता है जिसमे आपके theme name, theme URL, author name, description इत्यादि information होती है. इन्ही सब metadata information से WordPress system आपकी theme को पहचान पाता है.

index.php – ये WordPress theme template files में सबसे जरुरी file है. index.php file का ज्यादातर use as a home page किया जाता है. index.php file default template file है यानी जब भी कोई specific template नही available होती है तो index.php file को ही use किया जाता है.

functions.php – इस file से आप अपनी theme में menu, widget, multiple sidebar create करते है और इसके अलावा आप WordPress theme में custom functionality add करते हो वो भी बिना WordPress की core file में changes किये.

header.php – जो कुछ भी आप अपने blog के हर section (web pages) में top में चाहते हो उसे header.php में लिखा जाता है. header.php में html head section, analytics code, calls to CSS files, site navigation, page titles, blog logo इत्यादि information contained होती है.

footer.php – जो कुछ भी आप अपने blog के हर section में bottom में चाहते हो use footer.php में लिखा जाता है. footer.php में copyright information, calls to JavaScript files, widget, common page links इत्यादि information contained होती है.

sidebar.php – इस file का use हम अपने theme के right side, left side या both side में widgets, search bar, category list, popular post इत्यादि information दिखाने के लिए करते है.

comments.php – इस file की help से आप अपने posts के नीचे comment section को add करते है.

page.php – इस template file का use About Me, Contact Us और other static pages को show करने के लिए किया जाता है.

single.php – इस template file का use individual blog post को show करने के लिए किया जाता है.

category.php – जब भी कोई user किसी category पर click करता है तो उस category की सभी posts को chronological order (newest posts to oldest posts) में show करने के लिए इस file का use किया जाता है.

404.php – इस template file का use 404 error message show करने के लिए किया जाता है.

 

WordPress Theme Development Tutorial from Scratch in Hindi की series की इस post में हमने सिखा की WordPress Theme Development की लिए Pre-Requirements क्या है और कैसे WordPress theme different types’ की template files को मिलाकर work करती है. अपनी next post में आपका बताऊंगा की कैसे आप इन files को create करके इनमे code करते है और इन्हें आपस में जोड़ कर WordPress Theme create करते है.

 

Hello Gyanians, आशा करता हूँ की आपको ये “ WordPress Theme Development Tutorial from Scratch in Hindi (Part 1) ” post पसंद आई होगी. अगर आपको इस post से related कोई सवाल या सुझाव है तो नीचे comment करें और इस post को अपने दोस्तों के साथ जरुर share करें.

8 responses to “WordPress Theme Development Tutorial from Scratch in Hindi (Part 1)”

  1. mahtab says:

    Nice post

  2. mahtab says:

    Bro aapki theme responsive nhi hai and 2. Aap is comment system ko removd kr ke koi aur use kre to user ko sahi rahega baki theme masf hai

    • Brother meri theme 101% responsive hai.. aapko ye responsive q nhi lagi???
      Baise to main bhi is comment system ko htaane ki soch raha hun kyonki har koi is comment system par comment nhi kar paata hai .. lekin iska sbse bda advantage ye hai ki kisi trh k spam comments nhi aate hai.

  3. Good information thanks
    Sir aapka number mill sakta hai

  4. Rushikesh Sonawane says:

    Sir me dheere dhere theme development tutorials follow kar raha hun. Par me usase pahale aapko ek aur sawal poochana chahta hun. Jaise hum other theme use karte hai. TO ham use customize kar sakate hai. Matlab hame koi logo lagana ya aise bahoot saare chote mothe customization hum WordPress dashboard>> appearances ke through kar sakte hai.
    To aapke tutorials ko follow karne ke baad jo theme create karenge. Agar hume usame kooch badlaw karne hai. Jaise primary color change Jo bhi customization me aata hai. Use karne ke liye hum wordpress dashboard mese kar sakate hai? ya fir ham editor me jake theme coding ko change karna hoga.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *