WordPress Posts and Pages Me Kya Difference Hai?

Differences Between Posts and Pages in WordPress

Hello Gyanians, आज इस post में हम बात करेंगे WordPress Posts and Pages के बारे में और सीखेंगे की WordPress posts and pages में किया अंतर है और हमे कब WordPress Posts और कब WordPress Pages का use करना चाइये यानी ये post WordPress Posts vs. WordPress Pages के बारे में है.

ज्यादातर WordPress beginners जब अपने blog पर first article लिखने के लिए अपना WordPress dashboard open करते हैं तो उन्हें dashboard में content लिखने के लिए 2 options मिलते है Post and Pages.

इन्हीं 2 content types की वजह से ज्यादातर beginners confused हो जाते हैं की किस option का use करके article लिखें और इन दोनों में difference किया है और कब posts का option का और कब pages option का use करें.

WordPress dashboard में posts and pages options same ही नजर आते है और इनको open करने पर भी जो editor view and use होता है वो भी same होता है और तो और इनका output भी blog पर लगभग same नजर आता है और इसी वजह से confusion होता है की इन दोनों की जरुरत क्या है.

आप इस post को पढ़ रहे हो यानी आप भी confused हो की WordPress posts and pages में क्या difference है इसलिए आपके इस confusion को दूर करने के लिए मैं आपको इस article में posts and pages के difference and use के बारे में पूरी जानकारी दूंगा.

WordPress Posts and Pages में क्या Difference है?

किसी भी WordPress users को WordPress blog पर new content create करने से पहले ये पता होना जरुर चाइये की posts and pages में क्या है difference है जिससे की आप confidently अपना new content create कर सको और किसी और को भी Posts vs. Pages के बारे में समझा सको.

अगर में कम शब्दों में कहीं तो Yes, WordPress posts and pages में difference होता है और अगर आप इन दोनों के difference को सही से समझना चाहते हो तो मैंने नीचें जो WordPress posts और WordPress pages के जो points बतायें है उन्हें ध्यान से पढ़े.

WordPress Post क्या है और इसका क्या Use है?

जब WordPress को launched किया गया था तब उसे सिर्फ blogging platform के तौर भी ही use किया जाता है जिसका use अपने blogs पर dynamic content publish करने के लिए किया जाता था और dynamic content publish करने के लिए post का use होता था.

Post content को dynamic content इसलिए कहा जाता है क्योंकि post में मौजूद content को हम समय के साथ change भी करते रहते है जिससे की post में दी गयी information update रहे.

WordPress platform पर Post option को इस तरह से organize किया गया है की जब-जब कोई user new post अपने blog पर publish करेगा तो वो post blog पर descending date order में अपने आप show होंगी यानी जब कोई reader उस blog पर visit करेगा तो उसे blog पर सबसे पहले latest post show होगी.

ऐसा कोई content जो आप लगातर publish करते रहते हो तो उसके लिए आप post का use करते हो और इसके बहुत से कारण है जैसे की ये reverse chronological order यानी latest post top पर नजर आती है, दूसरा आप posts को categories और tags में भी group कर सकते हो जिससे users उन्हें आसानी से ढूँढ सके.

WordPress Page क्या है और इसका क्या Use है?

जिस तरह blog पर latest और dynamic content को publish करने के लिए posts का use किया जाता है ठीक उसी तरह blog पर कुछ static content यानी ऐसा content जो शायद ही कभी update करते हो उसके लिए WordPress Pages option का use किया जाता है.

ज्यादातर सभी sites पर About Us, Contact, Terms of Use pages होते है और इनका content शायद ही कभी change होता है. WordPress pages posts से अलग इसलिए भी है  क्योंकि इनका content timeless होता है यानी हो सकता है की किसी post content कुछ वक्त बाद useless हो जाये लेकिन pages content हमेसा नया ही रहेगा.

इसके अलावा आप WordPress pages latest content list में show नहीं होते और ना ही आप इन्हें categories and tags में group कर सकते हो. इन्हें हम सिर्फ अपने menu bar या footer area में as a link add करते है.

WordPress Posts vs. Pages in Hindi

  • Posts का उपयोग Dynamic Content publish करने के लिए करते है और Pages का Static Content publish करने के लिए.
  • Posts को categories and tags में Group कर सकते हो लेकिन Pages को group नहीं कर सकते हैं.
  • Posts New to Old order में show होती हैं और Pages को menu or footer में as link add किया जाता है.
  • किसी भी old posts को आप Sticky करके top पर show कर सकते हो लेकिन pages को sticky नहीं किया जा सकता है.
  • News articles, reviews, stories ये Posts के examples हैं और About me, contact, terms of use ये Pages के examples हैं.

Hello Gyanians, मैं आशा करता हूँ की आपको ये WordPress Posts and Pages Me Kya Difference Hai post पसंद आई होगी. अगर आपको इस post से related कोई सवाल या सुझाव है तो नीचे comment करें और इस post को अपने दोस्तों के साथ जरुर share करें.

6 responses to “WordPress Posts and Pages Me Kya Difference Hai?”

  1. Rupendra says:

    बहुत अच्छी जानकारी दी है आपने

  2. मुझे लगता है किसी हिंदी ब्लॉगर द्वारा पहली बार पोस्ट और पेज के बारे में इतना अच्छा और विस्तार से पोस्ट पब्लिश किया है। पोस्ट पढ़ कर न्यू ब्लॉगर को काफी कुछ सीखने को मिलेगा ।

  3. Umesh says:

    Wow brother boht hi achhi jankari di hai aapne 😊

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *