SEO क्या है – On Page, Off Page, SEO Executive क्या होता है

SEO क्या है - Search Engine Optimization Kya Hai | On/Off Page SEO Hindi

आज हम सीखेंगे की SEO Kya Hai और On Page | Off Page | SEO Executive Kya Hota Hai. यह Website एवं Blogs के लिए क्यों जरूरी है, साथ ही हम जानेंगे On Page SEO क्या है, Off Page SEO क्या है, Backlink क्या है एवं Keyword Research क्या होता है.

Digital Marketing में SEO एक ऐसी प्रक्रिया है, जिसका उपयोग करके Website या Blog के Owner अपनी वेबसाइट को Online Search Engine जैसे की: Google, Bing, Yahoo में उनके Product या Services की Website को उनकी जरुरत अनुसार Rank करवाते है और इसी तरह अपने प्रोडक्ट और Services ज्यादा से ज्यादा लोगो तक पहुचाते हैं.

SEO Kya Hai

SEO एक तरह का Search Engine Technique है, जिसका उपयोग कर किसी भी Website/ Blog को Search Engine Friendly बनाया जा सकता है जिससे वह हमेशा सर्च करने पर Top Of the Search Engine में आपको देखने को मिल जाता है. SEO दो शब्दों से बना है Search Engine और Optimization.

Search Engine: यह वह प्लेटफार्म है जहां पर आपके वेबसाइट एवं Blogs खोज सकते हैं एवं उन्हें एक दूसरे से Compare कर सकते हैं. इस प्लेटफार्म पर आपके वेबसाइट की रैंकिंग की जाती है,

अगर आपका वेबसाइट या ब्लॉग अच्छा और सर्च इंजन Friendly होगा एवं उसमें कंटेंट क्वालिटी फुल होंगे तो वह वेबसाइट आपको यहां पर Top Of The List में देखने को मिल जाएगी अन्यथा उस वेबसाइट के कंटेंट एवं अथॉरिटी अनुसार नीचे के लिंक में देखने को मिल जाती है.

Optimisation: यह वह तरीका है जिससे हम अपनी वेबसाइट या ब्लॉग को सुधार कर एवं उसके कंटेंट Search Engine Friendly बनाकर उससे ज्यादा कोशिश करते हैं कि वह सर्च इंजन के टॉप लिस्ट में देखने को मिल जाए.

इस तरीके में कई सारे और भी टेक्निक्स इस्तेमाल होते हैं जिससे हमारी वेबसाइट कई सालों तक इन Search Engines पर आपको टॉप में देखने को मिल जाती है.

SEO Ke Main Types

SEO दो प्रकार की होती है. इन्ही दो प्रकार की SEO की मदद से हम Optimisation का 60% काम बहुत ही बेहतरीन तरीके से कर लेते हैं.

  • On Page SEO
  • Off Page SEO

चलिए अब जानते है On/ Off Page SEO के बारे में ताकि हम इन्हें ठीक से समझ सकें.

  • On Page SEO Kya Hota Hai: On Page Seo एक Optimization तकनीक होती है, जिसका उपयोग कर किस भी Website, Blog, Web Application को Search Engine Friendly बना सकते हैं. इसमें Content और Coding दोनों की Optimization की जाती है और इसी के साथ-साथ इसका उपयोग User Intractions बढ़ाने के लिए भी किया जाता है.
  • Off Page SEO Kya Hota Hai: Off Page SEO भी एक Optimization तकनीक होती है, लेकिन यह ON Page से अलग है . OFF Page SEO को Website पर नहीं किया जाता. बल्कि Website के लिए दूसरी वेबसाइट पर किया जाता है. जहाँ पर हम अपनी वेबसाइट की Branding & Promotion करते है.

इसके अलावा OFF Page SEO में Backlink एक एहम भूमिका निभाती है जिससे हमारी पेज की रैंकिंग बाकी के सर्च इंजन पर भी टॉप ऑफ द लिस्ट में दिखाई देती है.

  • Backlink Kya Hota Hai: Backlink हमारे वेबसाइट पर उपलब्ध कोई भी Pointing Url को कह सकते है जो एक तरह से एक वेबसाइट से दूसरी वेबसाइट पर Redirect करने में इस्तेमाल किया जाता है. इस तकनीक में हमारी वेबसाइट पर खासतौर से किसी और वेबसाइट से कोई यूजर किसी Link की मदद से आता है.

अभी हमने जाना की ON Page SEO क्या होता है, Off Page SEO क्या होता है और Backlink क्या होता है. चलिए अब जानते है की On Page और Off Page तकनीक क्या है और Backlink की तकनीक काम कैसे करती है.

इन तकनीकों के बारे में विस्तार में जानना जरूरी है क्योंकि आगे चलकर हम इन्हीं का इस्तेमाल करके ज्यादा से ज्यादा हम कोशिश करते हैं कि वह हर तरह के सर्च इंजन पर कम से कम पहले पेज पर तो दिखेगी उसके बाद उसे टॉप पर लाने की पूरी कोशिश की जाती है.

On Page SEO Kya Hai

On Page SEO एक ऐसी Technique है जिसका इस्तेमाल कर हम अपने पेज के वेबसाइट पर खुद से ही दूसरे उस जैसे मिलते हुए कंटेंट पर Link Redirect करते हैं.

इस तरीके का इस्तेमाल करने से हमारे वेबसाइट की रैंकिंग एवं यूजर Experience बढ़ता है साथ ही हमारे वेबसाइट पर विजिट करने वाले अन्य यूजर को उस कंटेंट की या उस कंटेंट से मिलती जुलती और विस्तार में जानकारी अगले वेब पेज पर देखने को मिल जाती है.

इस तकनीक में हम वेब पेज के साथ-साथ हमारे कंटेंट को भी Optimize करते हैं. इस तकनीक में हम नीचे दिए हुए निम्न तरीकों का इस्तेमाल करके हमारे वेबसाइट कि रैंकिंग बढ़ा सकते हैं:

  • Title Optimisation
  • URL Optimisation
  • Tags & Relevant Backlinks
  • HTML Code
  • On- Page Content
  • Heading & Sub- Headings
  • User Experience
  • Images
On Page SEO Elements

On Page SEO दो तरह से की जाती है:

  • Technical SEO (Coding)
  • Content SEO (Content)

Technical SEO: यह SEO का एक खास तरीका है जिसमें हम अपनी वेबसाइट के HTML Elements में Schema Markup Language का उपयोग करते है. जैसे: Meta Tag, Meta Title, Meta Description, Meta Article Tag,  Meta Image Tag, Meta Page Type Tag आदि.

इन Tags का इस्तेमाल हम इसलिए करते हैं, ताकि Search Engine का Algorithm जब हमारी वेबसाइट को Read करे तो वह ठीक तरीके से समझ सके की कौन सा कंटेंट क्यों लिखा गया है या इस Content एवं Paragraph के अन्दर क्या बताया गया है.

अगर आप आपकी वेबसाइट को CMS (Content Management System) जैसे WordPress, Drupal, Joomla, Magento, October आदि पर बनाते है. तो आपको Coding में Schema Markup Language लगाने की जरुरत नहीं पड़ती है. लेटेस्ट अपडेट के अनुसार लगभग इन सभी में Schema पहले से ही यह Tags लगी होती है.

हम कई बार CMS Software पर बनी वेबसाइट में SEO Plugin जैसे Yoast SEO का उपयोग भी करते है Meta Tags को Customize करने के लिए यह WordPress, Drupal में उपयोग किया जा सकता है.

अगर आप कोई Custom वेबसाइट बनाते है जिसमें आपने CORE HTML, PHP, PYTHON आदि Language की मदद ली है तो आपको उसमें Schema Language लगानी पड़ सकती है.

यह जरुरी नहीं है की आपको लगानी पड़े ऐसा हो सकता है आप जिससे वेबसाइट बनवा रहे है उन्होंने पहले से ही Schema लगा रखा है.

Content SEO: इस तकनीक का इस्तेमाल कर हम जब भी कोई Page/ Post बनाते है तो उस Page/ Post के अन्दर Content का उपयोग करते है. यह Content (Text, Image, Video, Audio, Other Media Files) हो सकता है .

यह Content जब भी किसी Search Engine का Algorithm पढता है तो उसे इस Content को ठीक तरह से अपने Search Result में दिखने के लिए मदद मिलती है एवं Search किए गए Keywords पर Index कराना इसके लिए बहुत आसान हो जाता है.

Keywords हम उन Questions को कहते है जिनके बारे में जानने के लिए लोग उन्हें Google, Bing, Yahoo जैसे Search Engine का इस्तेमाल कर जानकारी लेने की कोशिश करते हैं.

हम अपने Content में इन्ही Keywords का उपयोग करके इन Search Engines को बताते है, की किसी यूजर ने अगर कोई Question पूछा तो उसके उत्तर के रूप में यह कंटेंट दिखाना है. अब वह उत्तर एक (Text, Image, Video, Audio, Other Media Files) या कुछ भी हो सकता है.

उदाहरण: अगर कोई वेबसाइट Sanitizer बेचती है. तो उस वेबसाइट पर Sanitizer के Photo, Company Name, Product Details, Price, Quantity यह सब की जानकारी मौजूद होगी और यह वेबसाइट पर उपलब्ध जानकारी एक Content कहलाती है.

ठीक इसी तरह कोई वेबसाइट Car Repair की Service देती है. तो उस Service Centre के बारे में दी गई जानकारी और उस जानकारी में उपयोग की गई Text, Photo, Video आदि भी एक Content कहलाती है.

अगर आप On Page Optimization क्या है और On Page SEO कैसे की जाती है, की जानकारी विस्तार में जानना चाहते है, तो इसके लिए हमारी नीचे दी गई पोस्ट में हमारे द्वारा दी गई पूरी प्रक्रिया विस्तार में पढ़ सकते हैं.

Off Page SEO Kya Hai

Off Page SEO एक ऐसी Technique होती है जिसका इस्तेमाल कर हम अपने वेबसाइट की ब्रांडिंग एवं प्रमोशन दूसरे वेबसाइट पर भी कराते हैं.

इस तकनीक में हमारे वेबसाइट के लिंक हम दूसरे वेबसाइट के ओनर को उनके कंटेंट के साथ इस्तेमाल करने को कहते हैं जिससे हमारे कंटेंट को पढ़ने के लिए दूसरी वेबसाइट से भी लोग ज्यादा ज्यादा Redirect होकर हमारी वेबसाइट पर आते हैं.

इस तकनीक से हमारे वेबसाइट के Views तो बढ़ते ही हैं साथ ही बाकी के Search Engines जैसे: Bing, Yahoo, Duckduck Go इत्यादि पर भी हमारे वेबसाइट टॉप लिस्ट में Rank होती नजर आती है.

इसके अलावा भी कई सारी Off Page Tactics हैं जिनका इस्तेमाल कर हम अपनी वेबसाइट को हर सर्च इंजन कट ऑफ लिस्ट में Rank करा सकते हैं:

  • Social Media Linking
  • Pinterest, Wikipedia, Tumblr Backlinks
  • Brand Building
  • Citation Building
  • Content Marketing
  • Live Promotions
  • Youtube Sponsorships

इन सभी तकनीकों का इस्तेमाल करके हम हमारे वेबसाइट के Authority भी बढ़ा सकते हैं एवं साथ ही गूगल के साथ एक Trust कि हमारे द्वारा पब्लिश किया गया कंटेंट सही है एवं वह लोगों के फायदे में काम आती नजर आ रही है.

Off Page SEO करने के दो तरीके होते है, इन्ही दो तरीकों की मदद से हम किसी भी वेबसाइट, ब्लॉग की Off Page SEO ज्यादातर करते हैं:

  • Profiling (Profile, Page)
  • Backlinking (Backlink)
  • Profiling SEO: इसमें हम दूसरी वेबसाइट जैसे Social Media, Web Portal, Directory, Forum, Blogs जैसी वेबसाइट पर अपनी Website की Profile या Page बनाते है और फिर उंसी Profile या Page पर अपना Content शेयर करते है.
    • इससे अगर उस वेबसाइट पर कोई व्यक्ति हमारी वेबसाइट को देखता है और भविष्य में Search Engine पर कोई जानकारी सर्च करता है तो यूजर जनि पहचानी वेबसाइट पर जरुर जाता है.
    • Search Engine के नजरिए से देखे तो किसी वेबसाइट को अगर एक से ज्यादा Website Promote कर रहे है तो Search Engine उन वेबसाइट को एक Respected Authority वेबसाइट मानता है और Search Result में भी दिखता है.
  • Backlinking SEO: यह SEO हम दूसरी वेबसाइट से Backlink बनाने या प्राप्त करने के लिए करते है. जब भी कोई यूजर किसी एक वेबसाइट से <a href=””> New Website </a> की मदद से दूसरी वेबसाइट पर जाता है, इसे हम Backlinking कहते है.
    • इन्ही Backlinks की मदद से Users अन्य वेबसाइट से अपनी वेबसाइट पर आ भी सकते है .
    • Search Engine के नजरिए में यह Backlink एक संकेत होता है की किसी वेबसाइट को कितने अन्य वेबसाइट Promote कर रहे हैं और इसी के चलते उन पर Trust करती है. जितनी ज्यादा बड़ी वेबसाइट आपको Backlink देगी Search Engine उतना ही ज्यादा अपनी वेबसाइट को ऊपर Rank करेगा एवं उसे एक अच्छी Authority देगा..

अब अगर आप Off Page Optimization Kya Hai और ऑफ पेज SEO कैसे की जाती है. विस्तार से जानना चाहते है तो इसके लिए आप हमारे नीचे दि गई पोस्ट को पढ़े इसमें हमने पूरी जानकरी दी है.

Backlink Kya Hai

Backlink एक HTML Code होती है, जिसका उपयोग हम एक Website से दूसरी Website पर जाने के लिए करते है. लेकिन Backlink वो Link होती है जो की किसी दूसरी Website से हमारी Website की तरफ आती हो और उस Website पर आने वाले Users को हमारे Website पर भी Redirect करती है.

उदहारण: अगर A हमारी वेबसाइट है और B किसी और की Website है तो अगर B Website के किसी Page पर एक Link बने जिस पर Click करने के बाद User A वेबसाइट पर आ जाए, यानि B वेबसाइट के Page पर बनने वाली Link हमारे लिए Backlink होगी.

Backlink चार तरह की होती है और यह backlink सर्च इंजन को अलग-अलग signal देती है. लेकिन सभी का काम एक ही होता है एक वेबसाइट से दूसरी वेबसाइट पर visitors को भेजना.

  • Do Follow
  • No Follow
  • Sponsored
  • No-Opener
  • Do Follow: यह वो Backlink होती है जो की सबसे ज्यादा फायदेमंद होती है और Search Engine इन Link को सबसे ज्यादा अहमियत देता है .
  • No Follow: यह वो Backlink होती है जिनको सर्च इंजन ज्यादा अहमियत नहीं देता लेकिन फिर भी इनसे आपकी रैंकिंग पर फरक पड़ता है .
  • Sponsored: यह Backlink भी फायदेमंद होती है लेकिन उतनी नहीं जितनी Do Follow होती है, Search Engine मुख्य तौर पर इन्हें No Follow की तरह ही अहमियत देता है.
  • No Opener: यह वो Backlink होती है जिनको सर्च इंजन कोई अहमियत नहीं देता.

SEO Executive Kya Hota Hai

SEO करना बहुत ही आसान होता है आपको इसके लिए सबसे पहले Keywords Research करना होता है. एक बार Keywords Research हो गया उसके बाद आप उसी Keywords Research के आधार पर Content बना सकते है, एक बार आपने Content बना लिया तो उसे On Page Optimize करके वेबसाइट पर Publish कर सकते हैं.

इसके बाद बरी आती है Off Page SEO की जो की हम अन्य वेबसाइट पर करते है और अपने Content को शेयर करके उन वेबसाइट पर अपने Content और वेबसाइट पेजे के लिए Backlink भी बनाते है.

इनके बाद बरी आती है Published Content को फिर से Optimize करने की क्योंकी जरुरी नहीं है की एक बार में ही वेबसाइट के Content को SEO Optimize करने से वह सर्च इंजन जैसे: Google, Bing, Yahoo इत्यादि पर रैंक हो जाए. और अगर हो भी जाती है तो हमारे अलावा और भी कई सारे SEO Executive उपलब्ध है जो कि उनके कंटेंट को टॉप पर लाना चाहते हैं.

तो अगर हम चाहते हैं कि हमारा कंटेंट हमेशा टॉप पर हमें देखने को मिले तो इसके लिए हमें वक्त वक्त पर अपने कंटेंट को Optimize करते रहना होगा जिससे हमारे कंटेंट पर सबसे ज्यादा Clicks आएंगे और एक SEO Executive की उसी से सैलरी बनती रहती है.

Keyword Research Kya Hota Hai 

Keyword Research भी एक तरह की SEO तकनीक होती है जिसका इस्तेमाल कर हम यह पता लगा सकते हैं कि किस तरह के सवाल ज्यादातर यूजर इंटरनेट पूछ रहे हैं एवं उस कंटेंट के लिए उन सवालों के जवाब उपलब्ध है या नहीं.

यह काफी आसान तरीका होता है इसके लिए दो तरीके है जिनकी मदद से आप Keyword Research कर सकते है.

  • Manual Keyword Research
  • Google Keywords Planner

Manual Keyword Research: अगर आपको आपके Field की अच्छी जानकारी है तो आप अपने खुद के Keywords बना सकते है इसमें आप Google की मदद ले सकते है.

आपको बस इतना करना है की उसमें आपको Keywords Type करना है और Google खुद आपको उस Keyword का सही Version दिखा देगा जिसका उपयोग आप अपने Content में कर सकते है.

Google Keyword Planner: यह Google का ही एक Free Tool है जिसको आप ads.google.com पर जा कर Use कर सकते है.

आप जिस भी Topic पर Keyword Research करना चाहते है उस Topic को आप Keyword Planner Tool में डाल सकते है और आपके सामने Google Keyword Planner खुद ही उससे जुड़े सारे Keyword ला के दे देगा.

इतना ही नहीं Keyword Planner Tool आपको उन Keywords के Monthly Search Volume भी देता है जिनकी मदद से आप यह जान सकते है की कोन सा Keyword लोगों के द्वारा ज्यादा सर्च किया जा रहा है और फिर बाद में उसे अपने Content में Use कर सकते है.

Search Engine Optimization Basics Pdf

SEO Ka Full Form in Hindi

SEO Ka Full Form Search Engine Optimisation होता है.

आशा करते हैं आपको हमारी पोस्ट SEO Kya Hai और On Page | Off Page | SEO Executive Kya Hota Hai, पसंद आई होगी.

अगर इसके बाद भी आपको कोई सुझाव या समस्या है तो आप निचे दिए Comment बॉक्स का पूरा लुफ्त उठा हमसे सवाल पूछ सकते हैं.

Questions & Answer:
Testing Enviroment Create Kaise Kare - WordPress Tutorial in Hindi

Testing Environment Create कैसे करे – WordPress Tutorial in Hindi

WordPress
Iamo Bazaar App Kya Hai और Iamo App Kaise Use Kare

Iamo Bazaar App क्या है – कैसे Use करे | Iamo Bazaar App Download

Apps
301 redirect kaise kare - wordpress tutorial in hindi

301 Redirect कैसे करे WordPress Tutorial in Hindi

WordPress
Author :
सु-सुवागातम Gyanians इस वेबसाइट का मकसद है लोगो को हिंदी भाषा में ज्ञान प्रदान करना उनके द्वारा पूछे गए प्रिश्नों के उत्तर देना और यह कार्य करने के लिए हम तात्पर्य है. आप Gyanians को लोगों के साथ शेयर करके हमारी सहायता कर सकते है .
Questions Answered: (10)
sonu says:

sir seo ko kaise kare
seo ki kitni fees hoti h?

    SEO course wo log karte hai jo blogging field me work karte hai… and kaise kare ye post me likha hai..
    aur agr aap kisi institute se karna chahte ho to uski fee har institute me alg-alg hoti hai ~

vikku says:

bahut achchha seo samjhaya hai aapne

mittu says:

good explanation about seo thank you so much sir sharing information

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *